Kela Ki Kheti Kaise Karen: केले की खेती कैसे करें

Kela Ki Kheti Kaise Karen: आज के समय में केले की खेती करना काफी आसान हो गया है। बहुत जगह पर इसकी खेती हो रही और किसानों को काफी ज्यादा फायदा हो रहा है। अगर आप भी अच्छे तरीके से इसकी खेती करते हैं तो बहुत ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं जिसे किसानों को काफी लाभ हो सकता है। आज किस आर्टिकल में बताया जाएगा इसके लिए खेती कैसे की जाती है। इसका लाभ क्या है केले के सर्वोत्तम बी कौन सा है। कैसे तैयार किया जाता है सभी जानकारी दी जाएगी, इसलिए आप सभी सब की को अंत तक पढ़े।

बता दे कि बिहार में केले खेती पर्याप्त मात्रा में किया जाता है। इसीलिए हाजीपुर शहर केले की खेती के लिए मशहूर है। और पूरे देश में यहां के किले की सप्लाई किया जाता है। इसलिए बिहार केले के उत्पादन में काफी आगे चल रहा है।

Kela Ki Kheti Kaise Karen

केले की खेती करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखना बहुत जरूरी है तभी जाकर आप अच्छी अकेले के ऊपर को गा सकते हैं। सबसे पहली बात है की अच्छी मिट्टी का चुनाव बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है तभी पैदावार अच्छा ग सकता है। भूमि कनेक्शन करने के लिए आवश्यक होगा ताकि पोषक तत्वों की कमी की भरपाई किया जा सके। अगर आप अच्छे केले का उत्पादन करना चाहते हैं तो सबसे पहले उपयुक्त भूमि का चुनाव करें। चिकनी रेतीली मिट्टी में सबसे अच्छा उत्पादन होती है।

केले की जिसका पीएच मान 6 से 7 के बीच होनी चाहिए। तभी जाकर इसकी उपज अच्छी होगा क्योंकि अम्लीय मिट्टी में किसी खेती के लिए उपयुक्त होती है। और खेत में जल की भी समस्या नहीं होनी चाहिए हमेशा सिंचाई करना होगा सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसमें खरपतवार्नशी पर ज्यादा ध्यान देना होगा। हमेशा परीक्षण करते रहना होगा तभी जाकर ले की खेती का पैदावार काफी अच्छा होगा।

Kela Ki Kheti Kaise Karen: केले की खेती कैसे करें
Kela Ki Kheti Kaise Karen

Kela Ki Kheti के पौधे तैयार कैसे किया जाता है

अगर आपके लिए खेती करना चाहते हैं तो सबसे पहले के लिए कुटिया होने में 1 साल का समय लग जाता है। इसलिए समय बचाने और जल्दी आमदनी पाने के लिए आपको टिश्यू कल्चर से तैयार पौधे लगाने चाहिए। ग्रेट नाम यानी टिश्यू कल्चर टेक्निक से प्राप्त पौधे की ऊंचाई 300 सेंटीमीटर से अधिक होती है और केला काफी जल्द तैयार हो जाता है।

टिश्यू कल्चर की फसल लगभग 1 साल लगता है। तैयार होने में और सबसे बड़ी विशेषताएं इसकी यह है कि तैयार पौधे की खेती पूरे वर्ष की जा सकती है। हालांकि आपको अत्यधिक या कम उच्च तापमान से बचाना सबसे महत्वपूर्ण है। कली खेती करने के लिए पहले हर तरह की जानकारी किसानों को होनी चाहिए। सभी जाकर आप अच्छे से किले का खेती कर सकते हैं।

केले उगाने के लिए सर्वोत्तम किस्म

अगर आपकेले की उपज प्राप्त करना चाहते हैं तो उन्नत किस्म बाजार में उपलब्ध है इस संबंध में रोबोस्टर के लिए सिंगापुर केले की खेती सबसे अच्छी मानी जाती है इससे केले की खेती में पैदावार अधिक होती है इसके अलावा बसराय, बोना, हरि छाल, साल भोग आदि प्रकार के किले भी अच्छा माना जाता है। यह सभी उच्चतम किस्म के किले का बीज है। जो की काफी ज्यादा उपज होता है और जल्द ही तैयार भी हो जाता है।

Kela Ki Kheti के लिए गड्ढे तैयार कैसे करें

केले की खेती का नियम के अनुसार पौधे रोकने के लिए 45 * 45 * 45 सेंटीमीटर आकर फिगर की आवश्यकता होती है। इन गड्ढों में 10 किलोग्राम अच्छी तरह के विघटन कर 250 ग्राम खली और 20 ग्राम कार्बन पुरोनो मिश्र मिट्टी से भर दिया जाता है। इसकी खेती के लिए गठित तैयार की करना होता है। और खुले में छोड़ देना चाहिए सूर्य की रोशनी उन पर पड़ेगा और हानिकारक कीड़ों को मारता है। मिट्टी को हवादार बनने में मदद भी मिलता है इस तरह से केले खेती के उपजाऊ में काफी पैदावार अच्छा होता है।

Kela Ki Kheti फायदा

केले की खेती के फायदा जानना चाहते हैं तो आपको जानकारी के लिए बता दूं कि इसकी फसल तैयार करने में 1 साल का समय लग जाता है। मगर इस समय में जो उत्पादन होता है वह काफी पर्याप्त मात्रा में होती है। जो किसानों को साल भर का इनकम एक केले की खेती से ही प्राप्त हो जाता है जिसे किसानों को काफी ज्यादा मुनाफा होता है। इसकी खेती करने में 12 महीने का जो समय लगता है। मगर 12 महीने तक की कमाई आपको यहीं से प्राप्त हो जाएगा। इसलिए आज के समय में केले खेती बहुत सारे किस कर रहे हैं और काफी ज्यादा लाभ प्राप्त कर रहे हैं। अगर आपको भी आपके लिए की खेती करना है तो संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के बाद जरूर करें।

Leave a Comment